java language interview questions in hindi

Java language के 50 इंटरव्यू प्रश्न और उत्तर | 50 important java interview, viva questions in hindi

पोस्ट को share करें-

java के प्रश्न और उत्तर, java interview questions and answers in hindi, [java mcq, viva questions], BCA के notes, computer notes, java notes, java language basics interview question, कंप्यूटर notes, java question pdf, java के mcq, java के नए प्रश्न, java for fresher, java for experienced, java language in hindi, btech computer notes in hindi, java interview questions pdf,java interview questions geeksforgeeks.

क्या आप भी एक java developer बनना चाहते है, और इसके लिए इंटरव्यू की तैयारियों में लगे हुए है? या फिर आप एक student है, जो अपने java language के concept को काफी मजबूत करना चाहते है, और इसमें और अच्छा बनना चाहते है?

इन दोनों में से आप भी कोई भी क्यों ना हो,आज आप बिल्कल सही जगह पे आए है, जहाँ हम java language से समन्धित कुछ ऐसे topics के बारे में जानने वाले है, जो अमूमन interview या किसी viva में पूछे जाते आए है।

यहां, हर एक interview के साथ ही बड़ी कंपनियों में भी पूछे जाने वाले वास्तविक प्रश्न मिलेंगे, जो आपकी तैयारियों को और भी ज्यादा मजबूत करेंगे। और साथ ही यहाँ हर एक प्रश्न के साथ उसके उत्तर भी दिए गए है, ताकि तैयारी के समय की बचत हो सके।

यह आर्टिकल आपको अपने java language के कौशल को और ज्यादा साफ़ करने और अपना आत्मविश्वास वापस पाने और किसी नौकरी के लिए तैयार होने में काफी मदद करेगी। साथ ही यह उन छात्रों की भी काफी ज्यादा मदद करेगी जो, इस विषय में अपने ज्ञान को और बढ़ाना चाहते है। 

तो आइये अब हम जानते है,ऐसे ही प्रश्नों के बारे में जो experts और teacher द्वारा इस विषय में काफी ज्यादा पूछे जाते है –

Table of Contents

Java क्या है? (What is java in hindi)

Java एक काफी लोकप्रिय object-oriented प्रोग्रामिंग भाषा है, जो की class और object पे आधारित है। और आज यह दुनिया में सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं में से एक है। java language में एक simple प्रोग्राम का उदहारण है –

public class ABC 
{  
public static void main(String args[]) 
{      
system.out.println(“Hello World!”);   
}
}

ऊपर दिया गया प्रोग्राम compile होने पर, स्क्रीन पे “Hello World!” प्रिंट करेगा।

Java को अपने सिस्टम में कैसे install करे?

जावा को command prompt के माध्यम से स्थापित करें, ताकि यह किसी भी समस्या के निवारण के लिए आवश्यक log files उत्पन्न कर सके। और इसके steps है –

  • Java.com की वेबसाइट पर जाएं, और वहा free java डाउनलोड बटन पर क्लिक करें।
  • इसकें बाद save बटन पर क्लिक करें, और java सॉफ्टवेयर को डेस्कटॉप पर सेव करें।
  • अब यह सुनिश्चित करे की java आपके desktop पर save हो चूका हो।
  • अब कमांड prompt खोले।
  • फिर वहा cd <जावा डाउनलोड directory> यानि की java फाइल का डाउनलोड हुआ लोकेशन डाले (उदाहरण के लिए डाउनलोड या डेस्कटॉप आदि)
  • इसके बाद अंत में installer को चलाएं और ऑनस्क्रीन पर आने वाले निर्देशों का पालन करें।

Java में path कैसे सेट करे?

Windows 8 और 10 में java के path को सेट करने के लिए हमे कुछ steps का पालन करना होगा, जो की है –

  • पहले अपना “JDK” फाइल में जाये, और फिर “bin” फोल्डर को खोले और उसके path को copy कर ले।
  • फिर अपने “my computer” पे right क्लिक करे, और फिर “properties” पे क्लिक करे।
  • फिर उसमे “advanced system settings” पर क्लिक करे।
  • इसके बाद “Environment Variables” पे क्लिक करे। 
  • फिर निचे मौजूद “system variables” के सेक्शन में, “PATH” को खोजे और फिर उसे select करके, “edit” पर क्लिक करे।
  • अब “new” पर क्लिक करे , और copy किये हुए “bin” के path को पेस्ट कर, “ok” पर क्लिक करे।
  • फिर “ok” पर क्लिक करते हुए, बाकी सभी windows को भी बंद कर दें।

अब इसे चेक करने के लिए, कमांड prompt खोले और फिर उसमे डाले-

  • java/version – यह डालने पर आपको अपने सिस्टम पर मौजूद java का version और बाकि कई जानकारी यहा show हो जायेगा। 
  • अब java compiler को चेक करने के लिए, कमांड में लिखे “javac” और इंटर मारे, और ऐसा करने पर अगर आपको स्क्रीन पर काफी सारे statements आते है, तो इसका मतलब यह है की, आपके सिस्टम में “java environment variable” सही तरह से सेट हो चूका है।  

Java language को pure object oriented क्यों नही माना जाता है?

Java language कई तरह के primitive डेटा types को support करता है, जैसे की  char, short, int, float, long, double, आदि और इसी लिए java language को  pure object oriented नही माना जाता है। 

Java language को platform independent क्यों कहा जाता है?

Java language किसी भी hardware या software पर निर्भर नही करता, और ऐसा इसलिए क्युकी इसका compiler इसके कोड को compile करता है, फिर उसे platform independent byte कोड को बदल देता है, जिसे की किसी भी सिस्टम में चलाया जा सकता है, बसर्ते उस सिस्टम में (JRE) install हो।      

Java language की विशेषताएं क्या हैं?

Java language की कई सारी विशेषताएं होती है, जैसे की – 

OOP concept – इसके कई सारे properties होते है, जैसे की –

  • Inheritance
  • Encapsulation
  • Polymorphism
  • Abstraction

Platform independent – Java language में लिखा गया कोई प्रोग्राम, किसी भी platform और सिस्टम पे बिना किसी बदलाव के चलाया जा सकता है।

High Performance – JIT (जस्ट इन टाइम कंपाइलर) java language में उच्च प्रदर्शन को सक्षम बनाता है। साथ ही इसका किसी भी byte कोड को मशीन language में बदल देता है, जिसके बाद JVM द्वारा उसका execution किया जाता है।

Multi-threaded – Execution के फ्लो को thread कहा जाता है। और java language में JVM एक thread तैयार करता है, जिसे main thread कहा जाता है। इसके अलावा users भी thread क्लास का इस्तेमाल कर खुद के threads भी बना सकते है।          इत्यादि।

Java के IDE’s के नाम बताये? 

Java language के इस्तेमाल के लिए कई सारे IDE’s मौजूद है, जिनमे से कुछ है –

  • Eclipse 
  • NetBeans
  • BlueJ 
  • DrJava    आदि।

Class और object क्या होते है?

  • Class एक तरह का blueprint या template होता है।
  • इसमें सभी functions और methods मौजूद होते है।
  • यह एक तरह का डिजाईन, डेटा और behaviour को दर्शाता है।

उदहारण के लिए, किसी घर के design, जिसे देखकर कई घरो को बनाया जा सकता है। वही object –

  • यह वो entity होते है, जिनका अपना state यानि की characteristics होता है।
  • साथ ही इनके पास अपना behaviour यानि की functionality भी मौजूद होते है।
  • और जब भी JVM new() keyword को read करता है, तब वो उस class के लिए object का एक instance तैयार कर देता है। 

उदहारण के लिए एक घर जिसे की किसी blueprint यानि की “class” की सहायता से तैयार किया गया हो।

Class का एक simple उदहारण है –
Class print    // class declaration
{
public static void main(String [ ] args)  // method body   
{    
system.out.println(“java language”);  
}
Object का एक simple उदहारण है –
public class calculation
{
public static void main(String [ ] args)
{    
 calculation add = new calculation();    //Object creation
}
}

ऊपर दिया गया कोड “calculation” क्लास का एक object तैयार के देगा। 

Identifiers किसे कहा जाता है?

यह एक प्रकार के नाम होते है, जिसे किसी भी एक java प्रोग्राम को बनाने के बाद दिया जाता है। उदहारण के लिए abc.java, xyz.java, इत्यादि।

Keywords क्या होते है?

यह java language में पहले से परिभाषित यानि की defined कुछ शब्द होते है, जिनका इस प्रोग्रामिंग language में कुछ ना कुछ अर्थ होता है। और java language में कुल 52 keywords होते है।

Java के keywords के उदहारण दे?  

Java language में इस्तेमाल होने वाले कुछ keywords है –

Abstract Enum Char Goto 
Extends Assert Else Null 
Constant Double Boolean Switch 
Find Break Try Volatile 
Byte Interface Continue New 
Default Case Float Super 
Class Finally Catch true

Literals किसे कहा जाता है?

Java language में literals उन मूल्यों यानि की values को कहा जाता है, जिनका इस्तेमाल किसी प्रोग्राम में किया जाता है। उदहारण के लिए –

  • स्ट्रिंग literals – (“helloworld”)
  • Character literals – (‘H’)
  • Numeric literal – (3,4)
  • बूलियन literal – (true/false)  आदि।

Separators किसे कहते है?

इसका इस्तेमाल किसी प्रोग्राम में कोड को एक दूसरे से अलग करने के लिए किया जाता है। उदहारण के लिए –

  • Parentheses – ( )
  • Brasis – { }
  • Bracket – [ ]
  • Comma – ,   आदि।

Comments क्या होते है?

यह किसी प्रोग्राम में अतिरिक्त जानकारी जोड़ने के लिए इस्तेमाल किये जाते है। Java language में इसे डालने का तरीका है –

  • एक लाइन के कमेंट के लिए – //
  • कमेंट ब्लाक के लिए – /*   */  

Operators किसे कहा जाता है? 

यह वो symbols होते है, जिन्हें operands के साथ इस्तेमाल किया जाता है। उदहारण के लिए –

  • [6+2] – यहाँ (+) का चिन्ह “operator” है, और (6 और 2) “operands” है।

Variables और data type किसे कहा जाता है?

Variables एक तरह के containers होते है, जिनमे प्रोग्राम में इस्तेमाल हो रहे किसी डेटा को स्टोर किया जाता है। यह तीन प्रकार के होते है, जो की है –

  • local
  • global 
  • final

इसके अलावा global variables के भी दो प्रकार होते है, जो की है – 

  • instant 
  • static  

वही datatype यह दर्शाते है, की variable में स्टोर होने वाला डेटा किस प्रकार का है। Data type के कुछ उदहारण है –

Datatype Default मान
Integer 0
Float0.0 f 
Double 0.0 d
Char Unicode 
Boolean False 

क्या Java और JavaScript एक ही है?

नहीं, जावा और JavaScript दो अलग-अलग कंप्यूटर भाषाएं हैं। जावा एक robust, secured और object-oriented प्रोग्रामिंग भाषा है, जबकि JavaScript एक client-side scripting भाषा है, जिसमे  काफी limitations मौजूद होते है। 

Instance variable और local variable का मतलब क्या होता है?

Instance variable वो variables होते है, जिन्हें किसी class के अंदर मौजूद किसी भी method द्वारा access किया जा सकता है। इन्हें method के बाहर मगर class के अंदर declare किया जाता है। और साथ ही यह किसी object के प्रॉपर्टी का भी वर्णन करते है।

Class के अंदर मौजूद सभी objects के पास इस variable की एक कॉपी मौजूद होती है, ताकि वो इसका इस्तेमाल कर सके। और अगर इसमें किसी भी तरह का बदलाव किया जाता है, तो वो सिर्फ एक ही जगह तक सिमित रहेगा, और बाकि अन्य सभी वर्ग इससे अप्रभावित रहेंगे। 

उदहारण के लिए –
class player
{
public String playerName;
public double playerSpeed;
public int playerAge;
}

वही, local variable वो variables होते है, जिन्हें किसी block, function या constructor के अंदर मौजूद होते है, और इनका इस्तेमाल भी सिर्फ इन्ही blocks के अंदर तक ही सिमित होता है। और जब भी किसी method के अंदर किसी लोकल variable को declare किया जाता है, तो class में मौजूद बाकि methods को इसकी कोइ जनकारी नही होती।

उदहारण के लिए –
public void player()
{
String playerName;
double playerSpeed;
int playerAge;
}

जावा में JDK, JRE और JVM में क्या अंतर हैं?  

JDKJRE JVM 
इसका मतलब होता है “java development kit”इसका मतलब होता है “Java runtime environment”इसका मतलब होता है “Java virtual machine”
यह java एप्लीकेशन बनाने के लिए एक development किट होती है। और इसमें JRE, JavaDoc, compiler, debuggers, आदि शामिल होते है।यह एक सॉफ्टवेयर package होता है, जो किसी java एप्लीकेशन को चलाने के लिए Java class libraries, JVM, और अन्य सभी तरह के महत्वपूर्ण components उपलब्ध करवाता है।  JVM एक platform dependent, अमूर्त मशीन होती है, जिसमें 3 specifications शामिल हैं – JVM implementation आवश्यकताओं का वर्णन करने वाला एक दस्तावेज़, JVM आवश्यकताओं को पूरा करने वाला एक कंप्यूटर प्रोग्राम और जावा बाइट कोड को execute करने के लिए instance object, जो की java प्रोग्राम के execution के लिए एक रनटाइम वातावरण प्रदान करता है।
इसका इस्तेमाल कोड के development और उसके execution के लिए किया जाता है। इसे मुख्य रूप से कोड के execute के लिए एक environment तैयार करने में उपयोग किया जाता है।यह JRE में सभी तरह के implementations के लिए specifications मुहैया करवाता है। 
JDK कोड को तैयार करने के लिए , compiler, debuggers, आदि जैसे tools मुहैया करवाता है। यह JVM द्वारा चलाए जाने वाले प्रोग्राम के लिए जरुरी libraries उपलब्ध करवाता है। इसमें कोई tools मौजूद नही होता, हालाँकि यह किसी भी तरह की implementations के लिए specifications मुहैया करवाता है। 

Java में access modifiers क्या है?

Access modifiers कुछ खाश keywords होते है, जिनका इस्तेमाल किसी class के डेटा, methods और constructor को किसी दूसरे class में इस्तेमाल होने से रोकता होता है। Java language में चार तरह के access modifiers इस्तेमाल किये जाते है, जो की है – 

  1. Default – इसका इस्तेमाल खुद के package के अंदर ही किया जा सकता है, उसके बाहर नही। और प्रोग्राम में कुछ ना डालने पर, वो by default ही default access modifiers में चला जाता है। 
  1. Public – इसे class के अंदर, बाहर, किसी package के अंदर, package के बाहर कही भी बना किसी परेशानी के इस्तेमाल किया जा सकता है।  
  1. Private – इसे सिर्फ अपने class तक ही इस्तेमाल कियाजा सकता है, और उसके बाहर नही। 
  1. Protected –  इसका इस्तेमाल खुद के package के अंदर किया जा सकता है, और साथ ही child क्लास की मदद से इसे package के बाहर भीस्तेमल किया जा सकता है। और बिना किसी child क्लास के इसे package के बाहर इस्तेमाल नही किया जा सकता।    

Java में Interpreter क्या होता है?

यह एक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है, जो की high लेवल प्रोग्राम को assembly लेवल प्रोग्राम में बदल देता है। और इसे input source प्रोग्राम को पढने और उसे translate करने के लिए design किया जाता है। साथ ही किसी प्रोग्राम के चलने पर यह उसके कोड को machine कोड में बदल देता है। इसकी कुछ विशेषताए है, जैसे की –

  • Beginners के लिए इसे इस्तेमाल करना काफी आसान होता है।
  • यह runtime के दौरान source कोड को line by line मशीन कोड में बदलता है।      
  • इसके इस्तेमाल से किसी प्रोग्राम के analyzing और processing में कम समय लगता है।
  • इसमें हर line के error को एक-एक करके display किया जाता है।     आदि।  

हालाँकि, compiler के मुकाबले इसमें प्रोग्राम की execution speed कम होती है। और साथ ही यह एक बार में तुरंत मशीन कोड generate करके नही दे सकता।

Interpreter और compiler में क्या अंतर है?

एक compiler और एक interpreter में कई तरह के अंतर होते है, जैसे की – 

Compiler Interpreter 
यह पूरे कंप्यूटर प्रोग्राम को एक बार में translate करता है।यह किसी कंप्यूटर प्रोग्राम को line by line translate करता है। 
यह Intermediate Object कोड बनाता है।यह Intermediate Object कोड नही बनाता है।
इसमें compile time ज्यादा होता है, मगर execution तेज होती है। इसमें compile time कम होता है, हालाँकि execution slow होती है। 
इसमें पूरे प्रोग्राम के compile हो जाने के बाद, error show किया जाता है। इसमें compile सिर्फ तभी तक होगा, जब तक कोई error ना सामने आ जाए ।
C, C++, java language, आदि में इसका इस्तेमाल होता  है। Python, Perl, Ruby,PHP आदि में इसका इस्तेमाल किया जाता है । 

Methods क्या होते है?

Methods या functions एक कोड का ब्लाक होता है, जिसे की किसी particular काम को करने के लिए तैयार किया जाता है। Java language में method को बनाने का syntax है –

Access specifiermodifierreturn typemethod nameargument  
यह कई तरह के होते है, जैसे की -public, private, protectedयह दो तरह के होते है -Static, non-staticयह सुनिश्चित करते है की प्रोग्राम किस प्रकार का डेटा return करेगा, जैसे की -void, char, stringयह method का नाम होता है, जो user द्वारा दिया जाता है। यह optional होते है। 

Java language में methods दो तरीके के होते है –

  • User-defined Methods – इसे users खुद अपनी जरुरत के हिसाब से तैयार कर सकते है।
  • Standard Library Methods – यह पहले से तैयार methods होते है, जिनमे हम java प्रोग्राम में इस्तेमाल कर सकते है।

किसी भी प्रोग्राम में सबसे पहले main() ही execute होता है।

Non-static methods को कॉल करने के लिए object बनानी होती है, हालाँकि static methods के लिए ऐसी कोई आवश्यकता नही होती। 

Method का उदहारण है –
Class abc
{
public void A()
{
system.out.println(“first”);
}
public static void main(String args[])
{
system.out.println(“java language”);
abc a1 = new abc();
a1. A()
}

ऊपर दिए गए प्रोग्रम का output होगा –

OUTPUT 
Java language first

Method overloading क्या है?

  • बिलकुल methods की तरह ही, इन्हें भी एक क्लास के अंदर declare किया जाता है, मगर यह एक से ज्यादा होते है।
  • इन सभी का नाम तो same होता है, मगर इनकी argument लिस्ट अलग-अलग होना अनिवार्य है ।  
  • इनमे parameters की संख्या, उनका प्रकार, या उनका क्रम कुछ भी अलग हो सकता है।
इसका एक simple उदहारण है –
class abc
{
void sample(int a)
{
system.out.println(“hello”);
}
static void sample(double b)
{
system.out.println(“bye”);
}
static void sample(char c, double b)
{
system.out.println(“test java language”);
}
public static void main(String args[])
{
abc a1 = new abc();
a1.sample(7);
sample(‘s’, 5.6);
sample(3.5);
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम का output है –

OUTPUT 
hello test java language bye

Constructor क्या होता है?

  • यह एक विशेष तरह का method होता है, जिसे object बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • इसमें कोई भी return type नही होता।
  • ये हमेशा non-static होता है।
  • constructor का नाम हमेशा उसी क्लास के नाम पर होता है, जिसमें वो मौजूद हो।
  • यह दो प्रकार के होते है, जो की है – 
  1. Parameterized/user defined 
  2. Non-parameterized/default  
  • और जब भी कोई object को create किया जाता है, सभी constructors अपने आप ही revoke हो जाते है। 
इसका एक उदहारण है –
class A
{
A()
{
system.out.println(“java language”);
}
public static void main(String args[])
{
new A()
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम में जब new A() object को create किया जायेगा तब, वो A() function को call करेगी,और स्क्रीन पे “java language” प्रिंट होगी। 

Constructor overloading क्या है?

  • Constructor के तरह ही, इसे भी एक क्लास के अंदर declare किया जाता है, मगर यह एक से ज्यादा होते है।
  • इन सभी का नाम तो same होता है, मगर इनकी argument लिस्ट अलग-अलग होना अनिवार्य है।  
  • इनमे parameters की संख्या, उनका प्रकार, या उनका क्रम कुछ भी अलग हो सकता है।
इसका एक उदहारण है –
Class ABC
{
ABC(int a)
{
system.out.println(“first”);
}
ABC(int a, float b)
{
system.out.println(“second”);
}
ABC(int a, float b, char c)
{system.out.println(“third”);
}
public static void main(String args[])
{
new ABC(17);
new ABC(17, 12.17);
new ABC(17, 12.17, ‘s’);
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम तीन Constructor को declare किया गया है, मगर तीनो के parameters की संख्या और प्रकार अलग-अलग है।  और इसका output होगा – 

OUTPUT 
first second third 

Inheritance किसे कहा जाता है?

  • इसकी मदद से किसी एक क्लास की property को दूसरे क्लास में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ऐसा करने के लिए यहाँ “extends” keyword का इस्तेमाल किया जाता है।
  • इसका main उद्द्श्ये कोड का reuse यानि की पुन: उपयोग करना होता है, ताकि हर बार सारे कोड को शुरु से ना लिखना परे। 
  • जिस क्लास से कोड को inherit किया जाता है, उन्हें parent, super, base क्लास कहा जाता है।
  • और जिन क्लास में यह कोड inherit होते है, उन्हें child, sub, derived क्लास कहा जता है।   
  • public और protected members को child क्लास में inherit किया जा सकता है। 
  • हालाँकि, Parent क्लास में मौजूद किसी भी private member को child क्लास में inherit नही किया जा सकता।
  • और कोई भी नया बना class किसी object क्लास का हमेशा subclass ही होता है।  

यह पांच प्रकार के होते है, जो की है –

  1. Single level –  इसमें एक base क्लास से डेटा को child क्लास में inherit किया जाता है।
  1. Multi level – इसमें दो से ज्यादा क्लास एक दूसरे से डेटा को inherit करते है।
  1. Multiple level – इसमें दो या अधिक base क्लास से डेटा को child क्लास में inherit किया जाता है।
  1. Hierarchical level – इसमें एक base क्लास से डेटा को दो या अधिक child क्लास में inherit किया जाता है। 
  1. Hybrid level – यह single, multi level, और Hierarchical का मिश्रित रूप होता है। 
इसका एक simple उदहारण है –
public class abc
{
void house()
{
system.out.println(“start”);
}
}
public class test extends abc
{
void play()
{
system.out.println(“play”);
}
public static void main(String args[])
{
system.out.println(“begin”);
test t1 = new test();
t1.play();
t1.house();
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम का output होगा –

OUTPUT 
BeginPlaystart

Method Overriding क्या होता है?

Inheritance में parent और child क्लास के बिच relationship बनाया जाता है। और अगर ऐसा कोई method जो एक ही नाम और parameters के साथ दोनों ही class में मौजूद हो, तब execution के दौरान वे एक दूसरे के ऊपर override करते है। 

अगर child क्लास का object, इस method को call करता है, तो child क्लास का method parent क्लास के method को override करेगा और execute होगा। वही अगर parent क्लास का object, इस method को call करता है, तो parent क्लास का method child क्लास के method को override करेगा और execute होगा।

इसके कुछ नियम होते है, जैसे की –

  • Final method इसे support नही करता।
  • Static method में override नही किया जा सकता।
  • Private methods में override नही किया जा सकता।
  • Super keyword का इस्तेमाल करके हम parent क्लास के method को overriding method में call कर सकते है।
  • Constructor में override नही किया जा सकता, क्युकी एक child क्लास और एक parent क्लास एक ही नाम का constructor मौजूद नही हो सकता।      आदि।  
इसका एक उदहारण है –
class Parent
{
void show()
{
System.out.println(“parent class method”);
}
class Child extends Parent
{
void show()
{
super.show();
System.out.println(“child class method”);
}
public static void main(String args [ ])
{
Parent obj = new Child();
obj.show();
}
}
OUTPUT 
parent class method
child class method

Method overloading और overriding में क्या अंतर है?

Method overloadingMethod overriding 
इसे एक ही class के अंदर इस्तेमाल किया जाता है। इसे एक से अधिक class में इस्तेमाल किया जा सकता है। 
यह प्रोग्राम की readability को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है। यह parent क्लास में मौजूद methods के कुछ खाश implementations के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 
इसमें सभी methods के parameters अलग-अलग  होने चाहिए।  इसमें methods के parameters एक समान होने चाहिए। 
यह compile-time polymorphism का एक उदहारण है।  यह runtime polymorphism का एक उदहारण है। 
Static methods को overload किया जा सकता है।Static methods को override नही किया जा सकता।  
इसमें return type अलग-अलग हो सकते है, हालाँकि हमे उसके साथ में parameters को भी change करना होगा। इसमें return type एक समान होना चाहिए। 

this() का क्या इस्तेमाल है? 

  • यह constructor में इस्तेमाल होने वाला पहला statement होता है। 
  • और constructor के अंदर this() ही सबसे पहले execute होता है। 
  • एक constructor के अंदर दो या उससे अधिक constructors का इस्तेमाल नही किया जा सकता।
  • और this() का इस्तेमाल सिर्फ constructor या constructor overloading के संदर्भ में ही किया जाता है।
इसका एक उदहारण है –
class abc
{
abc(int a)
{
system.out.println(“first”);
}
abc(double b, int a)
{
this(5);
system.out.println(“second”);
}
abc(double b, char c, int a)
{
this(7.3, 4)
system.out.println(“third”);
}
public static void main(String args[])
{
New abc(4.23, ‘a’, 7);
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम का output होगा –

OUTPUT 
first
second
third

super() का क्या इस्तेमाल है? 

  • इसे सिर्फ inheritance के केस में इस्तेमाल किया जाता है।
  • यह किसी constructor के अंदर मौजूद पहला statement होना चाहिए।
  • और किसी constructor में super() सिर्फ एक ही मौजूद हो सकता है।
  • साथ ही किसी constructor के अंदर super() और this() दोनों का ही एक साथ इस्तेमाल नही किया जा सकता।
  • अगर user super() खुद से नही डालते, तो compiler खुद बा खुद इसे प्रोग्राम में implicitly दाल देता है।
  • हालाँकि अगर user इसे खुद डालते है, तो compiler इसे खुद implicitly नही डालता।
  • और अपने parameters के अधर पे, super() किसी प्रोग्राम में invoked होते है।
इसका एक उदहारण है –
class one
{
one()
{
super();
system.out.println(“hello java”);
}
class two extends one{two()
{
system.out.println(“hii”);
}
class three extends two
{
three()
{
system.out.println(“bye”);
}
public static void main(String args[])
{
new three();
}
}

ऊपर दिए गए प्रोग्राम का output होगा –

OUTPUT 
hello java
hii
bye

Encapsulation क्या होता है?

  • डेटा encapsulation “OOP” का एक concept होता है, जिसके तहत डेटा के attribute और उनके behaviour को एक single unit में hide किया जाता है।
  • किसी सॉफ्टवेयर को तैयार करते वक़्त यह, developers को काफी सहायता प्रदान करता है, और यह सुनिश्चित करता है की, हर object किसी दूसरे object से बिलकुल स्वतंत्र रहे, जिनका behaviour और attributes अलग-अलग हो।  
  • और इन सब के अलावा यह डेटा hiding के तहत किसी object के  private properties की सुरक्षा में भी काफी ज्यादा मददगार होता है।
class
{
data members (properties)    
+
methods (behavior)
}

Thread.sleep() का क्या इस्तेमाल है?

  • Java language में इसका इस्तेमाल किसी प्रोग्राम को pause यानि की थोड़ी देर रोकने के लिए किया जाता है।
  • हालाँकि इसके इस्तेमाल के कभी-कभी समय का भी कफी नुकसान होता है।
  • और कभी-कभी slow loading के कारण automated script चलते समय, कई बार फेल भी हो जाते है।
  • साथ ही thread.sleep() के मामले में implicit और explicit दोनों ही तरह की waiting recommend की जाती है। 
इसका एक उदहारण है –
public class test
{
public static void main(String args[])
{
system.out.println(“open”);
thread.sleep(3000);
system.out.println(“start”);
}
}

इस प्रोग्राम के execution के दौरान पहले सक्रीन पर “open” प्रिंट होगा, उसके बाद यह प्रोग्राम तीन seconds के लिए pause हो जायेगा, जिसके बाद स्क्रीन पर फिर “start” प्रिंट होगा। 

Java में singleton क्लास किसे कहते है,और इसे कैसे बनाया जाता है?

यह वह क्लास होते है, जिनका एक JVM में किसी निर्धारित समय पर एक ही instance बनाया जा सकता है। और किसी class के constructor को private बनाकर उसे एक singleton क्लास बनाया जा सकता है।  

Array list और vector में क्या अंतर होता है?

Array list Vector 
यह synchronized नही होता है।यह synchronized होता है। 
यह काफी fast होता है।  यह slow होता है, हालाँकि ये thread में इस्तेमाल के लिए safe है। 
यह increment size को परिभाषित नहीं करती है।यह increment size को परिभाषित करती है। 
यदि किसी element को Arraylist में डाला जाता है, तो यह अपने Array size को 50% तक बढ़ा देती है।यह by default ही अपने array के size को दोगुना कर लेता है।  

Abstraction और Polymorphism किसे कहा जाता है?

Abstraction – यह users यानि की उपयोगकर्ताओं से किसी प्रोग्राम के implementation के details को छुपाने का method होता है, ताकि users तक सिर्फ इसकी functionalities पहुच सके। 

Polymorphism – यह किसी variable, function और object को एक से अधिक बार इस्तेमाल करने की क्षमता होती है। उदहारण के लिए function overloading, आदि।

Infinite loop किसे कहा जाता है?

यह वैसे loop होते है, जो बिना रुके लगातार चलते ही रहते है। ऐसा प्रोग्राम में हुई किसी तरह की गलती या किसी प्रोग्रामिंग logic के गलत हो जाने पर हो सकता है। और एक infinite loop किसी एप्लीकेशन से बाहर निकालने के बाद अपने आप ही terminate यानि की समाप्त हो जाती है।

उदहारण के लिए –
public class InfiniteForLoopDemo
{
public static void main(String[] arg)
{
for(;;)
System.out.println(“java language!”);
}
}

Note– ऊपर दिए गए प्रोग्रम को रोकने के लिए हमे (ctrl+c) दबाना होगा।

Break और continue में क्या अंतर है?

Break Continue 
इसका इस्तेमाल loop, जैसे की (for, while, do while) और switch statement के साथ किया जाता है। इसका इस्तेमाल सिर्फ loop statements के साथ किया जाता है। 
यह loop या switch statement को टर्मिनेट यानि की खत्म कर सकता है। यह loop statement को ख़त्म नही करता, लेकिन loop को उसके अगले iteration में jump करवा सकता है।  
यह innermost enclosing loop को तुरंत ख़त्म कर सकता है। यह switch के साथ nested किसी loop के अगले iteration को execute कर सकता है। 
Break का एक उदहारण है –
for (int i = 0; i < 7; i++)
{
if (i == 4)
{
break;
}
System.out.println(i);
}
Continue का एक उदहारण है –
for (int i = 0; i < 7; i++)
{
if(i == 5)
{
continue;
}
System.out.println(i);
}

Hashmap और hashtable में क्या अंतर है?

Hashmap Hashtable 
यह  synchronized नही होता है, और इसीलिए यह non-threaded एप्लीकेशन के लिए अच्छा बिकल्प होता है। यह  synchronized होता है, और इसीलिए यह threaded एप्लीकेशन के लिए अच्छा बिकल्प होता है। 
यह सिर्फ एक null key को allow करता है, हालाँकि हम इसमें कितने भी null values दाल सकते है।  यह किसी भी null key या values को allow नही करता है। 
सब क्लास LinkedHashMap का इस्तेमाल कर यह order of insertion को सपोर्ट करता है। इसमें order of insertion की कोई गारंटी नही होती है। 

Palindrome नंबर check करने के लिए एक simple प्रोग्राम लिखे?

Palindrome का अर्थ यह देखना होता है की, एक दिया गया नंबर जैसे की “123” और उसका उल्टा यानि की “321” same होते है या नही। उदहारण के लिए “123” एक Palindrome नंबर नही है, जबकि “121” एक Palindrome नंबर है, क्युकी इसका उलर भी “121” ही होता है। तो आइये अब देखते है एक simple java language में लिखा गया प्रोग्राम, जो यह check करेग की एक दिया गया नंबर palindrome है या नही –

public class PalindromeProgram
{    
public static void main(String [ ] args)
{    
int rem, rev= 0, temp;    
int n=121;            // user के द्वारा दिया गया नंबर      
temp = n;        
while( n != 0 )
{            
rem= n % 10;            
rev= rev * 10 + rem;            
n=n/10;        
}         
if (temp == rev)            
System.out.println(temp + ” is a palindrome.”);        
else            
System.out.println(temp + ” is not a palindrome.”);    
}
}

उदहारण के लिए –

INPUTOUTPUT
252252 is a palindrome.
365 18 is not a palindrome.

Scanner class क्या होती है?

Java language में scanner क्लास का काम यूजर से किसी प्रोग्राम को चलाने के लिए input लेना होता है। और किसी java प्रोग्राम में इसको इस्तेमाल करने के लिए, java.util.scanner को import करना पड़ता है। इसका एक simple उदहारण है –

import java.util.*;  
public class ScannerExample
{  
public static void main(String args [ ])
{            
Scanner in = new Scanner(System.in);            
System.out.print(“Enter your name: “);            
String name = in.nextLine();            
System.out.println(“Name is: ” + name);                       
in.close();                       
}  
INPUTOUTPUT
Sameer Name is: Sameer
Rahul Name is: Rahul

अलग-अलग प्रकार के डेटा का input लेने के लिए अलग तरीके होते है, जैसे की –

Data type Syntax 
Integer nextInt()
Float nextFloat()
DoublenextDouble()
Boolean nextBoolean()
Byte nextByte()
LongnextLong()
String nextLine()
ShortnextShort()

Sum of digit निकालने के लिए एक simple प्रोग्राम लिखे?

Sum of digit यानि की दिए गए किसी नंबर के अंकों का योग निकालने के लिए एक simple java language को प्रोग्राम है –

class SumOfDigits
{  
public static void main(String arg [ ])
{
long n, sum;
Scanner sc=new Scanner(System.in);
System.out.println(“Enter a number “);
n=sc.nextLong();
for(sum=0 ;n!=0 ;n/=10)
{
sum+=n%10;
}
System.out.println(“Sum of digits “+sum);
}
}

उदहारण के लिए –

INPUTOUTPUT
123 6
567 18

Error और Exception में क्या अंतर है?

Error किसी प्रोग्राम के runtime के दौरान होने वाली किसी तरह की गरबरी होती है, जैसे की OutOfMemory error। और in errors को runtime के दौरान सही नही किया जा सकता। इसीलिए in errors को catch block में पकड़ा जाता है, हालाँकि इसके वजह से एप्लीकेशन के execution में एक रुकावट आ जाती है।

वही exceptions इंसानों द्वारा की गयी गलती या ख़राब input के कारण उत्तपन होने वाली conditions होती है। उदहारण के लिए FileNotFound वाली exception तब आती है, जब खोजने का निर्देश दिए गए किसी file को प्रोग्राम नही खोज पाता। और अधिकांश मामलों में user को सही values डालने का निर्देश देकर, किसी भी तरह के exception से उबरना की संभव होती है। 

Java language में exceptions को कैसे संभाला जाता है?

Java में exceptions को संभालने के लिए पांच keywords का इस्तेमाल किया जाता है, जो की है – 

  • try
  • catch
  • finally
  • throw
  • throws

Try और catch का एक उदहारण दे?

Try और catch का एक simple उदहारण है –
public class TryCatchExample
{      
public static void main(String [ ] args)
{          
try          
{          
int data=50/0;      // यह लाइन error throw करेगी             
}          
catch(ArithmeticException e)          
{              
System.out.println(e);          
}          
System.out.println(“rest of the java code”);      
}    
}  
OUTPUT 
java.lang.ArithmeticException: / by zerorest of the java code

Square और square root निकालने का प्रोग्राम लिखे?

Java में किसी नंबर का square दो तरीके से निकाल सकते है, जो की है –

  • नंबर को खुद से ही multiply कर दे, जैसे की 4*4। 
  • या  (Math.pow) function का इस्तेमाल करे।
इसके लिए प्रोग्राम है –
package MyPackage; 
import java.util.Scanner;
public class Square
{    
public static void main(String args [ ])
{        
Double num;        
Scanner sc= new Scanner(System.in);        
System.out.print(“Enter a number: “);        
num=sc.nextDouble();        
Double square = num*num;        
System.out.println(“Square of “+ num + ” is: “+ square);    

}
INPUTOUTPUT
3Square of 3 is 9
4.5 Square of 4.5 is 20.25

वही square root निकालने के लिए हम Math.sqrt()function का इस्तेमाल कर सकते है, और इसका प्रोग्राम है –        

import java.lang.Math;
import java.util.Scanner;
class squareroot 
{    
public static void main(String args[ ])    
{       
Double num;        
Scanner sc= new Scanner(System.in);        
System.out.print(“Enter a number: “);        
num=sc.nextDouble();        
Double Squroot = Math.sqrt(num);         
System.out.println(“The Square root of “+ num + ” is: “+ Squroot);    
}
}
INPUTOUTPUT
4The square root of 4 is 2
121The square root of 121 is 11

Leap year check करने के लिए एक simple प्रोग्राम लिखे?

एक साल में आम-तौर पर 365 दिन होते है, मगर हर चार साल बाद आने वाला साल 366 दिनों का होता है, जिसे की “leap year” कहा जाता है। तो आइए अब हम देखते है, एक ऐसा java language में लिखा गया प्रोग्राम जो की यह check करेगा की कोई एक दिया गया साल leap year है या नही, और इसके लिए हमे कुछ logics check करने होते है, जैसे की –

  • Leap year होने के लिए, साल को 4 से divide होना होगा।
  • अगर कोई साल 100 से divide हो रहा है, मगर 400 से नही, तो वो leap year नही होगा।
  • ठीक उसी तरह अगर साल 100 से और 400 दोनों से divide हो रहा हो, तो वो leap year होगा।
इसके लिए प्रोग्राम है –
import java.util.Scanner;
public class Demo
{   
public static void main(String[] args)
{           
int year; 
Scanner scan = new Scanner(System.in); 
System.out.println(“Enter any Year:”); 
year = scan.nextInt(); 
scan.close();           
boolean isLeap = false;        
if(year % 4 == 0)        
{            
if( year % 100 == 0)            
{                
if ( year % 400 == 0)                    
isLeap = true;                
else                    
isLeap = false;            
}            
else                
isLeap = true;        
}        
else
{            
isLeap = false;        
}         
if(isLeap==true)            
System.out.println(year + ” is a Leap Year.”);        
else            
System.out.println(year + ” is not a Leap Year.”);    
}
}
INPUTOUTPUT
20122012 is a Leap Year.
20052005  is not a Leap Year.

FAQ (Frequently Asked Questions)

Java language किसने बनाया था?

जावा प्रोग्रामिंग भाषा को 1990 के दशक की शुरुआत में अमेरिका की एक टेक्नोलॉजी कंपनी “Sun Microsystems” द्वारा विकसित किया गया था। 

Java language का प्रयोग किसके लिए किया जाता है?

जावा एक सरल, कुशल, general-purpose वाली भाषा है, जिसका मुख्य रूप से इंटरनेट-आधारित applications के लिए उपयोग किया जाता है। और इसे कई तरह के platforms पर चलने के लिए design किया गया था।

Java किस तरह की भाषा है?

यह एक general-purpose, strongly typed, class-based और object-oriented प्रोग्रामिंग भाषा है, जो byte कोड को compile कर उसे JVM यानि की java virtual machine में चलने लायक कोड में बदल देती है।

क्या Java language को सीखना कठिन है? 

हाँ, इसे सीखना मुश्किल हो सकता है, क्युकी java भी नियमित आधार पर बदलता रहता है, और समय-समय पर नई सुविधाओं और features को जोड़ा जाता है। मगर कुछ बुनियादी कोडिंग नियमों को ध्यान में रखकर, हम इसे भी आसानी से सिख सकते है।

C++ और Java में कौन बहतर है?

अगर देखा जाए तो, C++ का उपयोग लगभग किसी भी चीज़ के लिए किया जा सकता है, लेकिन इसका उपयोग करना हमेशा आवश्यक नहीं होता है। और Java language आमतौर पर पर्याप्त होता है, और हमारे projects के लिए अधिक प्रभावी हो सकता है।

क्या Python और Java same होते है?

java एक statically typed और compiled प्रोग्रामिंग भाषा है, वही python एक dynamically typed और interpreted प्रोग्रामिंग भाषा है। और यह एक अंतर java को debug करने में आसान और runtime के समय ज्यादा तेज़ बनाता है। हालाँकि, python को पढना और इस्तेमाल करना ज्यादा आसान होता है।

क्या java language अभी भी उपयोगी है?

enterprise-level web apps और microservices के लिए java काफी आवश्यक है। इसके अलावा यह आज भी बैंकिंग और IT सेक्टर में इस्तेमाल होने वाला काफी महत्वपूर्ण प्रोग्रामिंग भाषा बनी हुई है। और तो और आज के latest android सिस्टम को बनाने में भी यह काफी काम आता है। और इन्ही सब कारणों से आने वाले समय में भी इसकी काफी ज्यादा मांग बने रहने वाली है।

इंटरव्यू की और तैयारी के लिए कुछ अच्छी किताबे –

BooksBuy HereKindle Edtion
Java Professional Interview Guide: Learn About Java Interview Questions and Practise Answering About Concurrency, JDBC, Exception Handling, Spring, and Hibernate Paperback – 24 August 2021 amazon से खरीदें amazon से खरीदें
The Complete Coding Interview Guide in Java: An effective guide for aspiring Java developers to ace their programming interviews Paperback – 28 August 2020amazon से खरीदेंamazon से खरीदें
Java Programming Interviews Exposed Paperback – 25 March 2014amazon से खरीदेंamazon से खरीदें
Grokking the Java Interview: Prepare for Java interview by learning essential Core Java concepts and APIs Paperback – Import, 26 January 2021amazon से खरीदेंamazon से खरीदें
Core Java Interview Questions You’ll Most Likely Be Asked (Second Edition) (Job Interview Questions Series) Paperback – 10 September 2021amazon से खरीदेंamazon से खरीदें

आशा करता हूं कि आज आपलोंगों को कुछ नया सीखने को ज़रूर मिला होगा। अगर आज आपने कुछ नया सीखा तो हमारे बाकी के आर्टिकल्स को भी ज़रूर पढ़ें ताकि आपको ऱोज कुछ न कुछ नया सीखने को मिले, और इस articleको अपने दोस्तों और जान पहचान वालो के साथ ज़रूर share करे जिन्हें इसकी जरूरत हो। धन्यवाद।

Also read –

आखिर क्या है Metaverse, जो बदल देगी पूरी इन्टरनेट की दुनिया

कैसा होता है एक company recruitment process

SQL के 50 इंटरव्यू प्रश्न और उत्तर

Software testing के 60 इंटरव्यू प्रश्न और उत्तर

HTML के 50 इंटरव्यू प्रश्न और उत्तर


पोस्ट को share करें-

Similar Posts

7 Comments

  1. Hello to all, it’s truly a fastidious for me to visit this web site, it consists of priceless Information.

  2. I have been browsing online more than 3 hours today, yet I never found any interesting
    article like yours. It is pretty worth enough for me. In my opinion, if all webmasters and bloggers made good content as you did, the internet will be a lot more useful than ever before.
    I saw similar here: dobry sklep and
    also here: sklep

    my homepage … sklep online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *