metaverse simple details in hindi

Metaverse क्या होता है, निबंध, परिचय? | Metaverse simple explanation in hindi

पोस्ट को share करें-

Metaverse Kya Hai in Hindi (मेटावर्स (मेटैवर्स) क्या है), Meaning, Kaise Kaam karta Hai, Technology, Example, Benefit, Side Effects, (अर्थ, फेसबुक, तकनीक, टेक्नोलॉजी, इंटरनेट, क्रिप्टो, लाभ, नुकसान),  Internet, Crypto Coins, Price, metaverse की दुनिया, metaverse ias notes in hindi.

यदि आप भी ऐसा सोचते हैं कि आखिर हमारे इस इंटरनेट का भविष्य क्या होगा, तो इसका उत्तर Metaverse हो सकता है। मगर आखिर यह Metaverse क्या है? Metaverse कौन बना रहा है? ऐसे ही सवालो का जवाब आज हम इस लेख में जानने वाले, तो इसके बारे में अधिक जानने के लिए इसे पढ़ते रहे।

क्या आपने कभी किसी मनोरंजन पार्क या शॉपिंग मॉल की यात्रा किया है जो की आपको 3D Virtual Reality प्रदान करता है? या क्या आपने कभी अपने डिजिटल gadgets के साथ में वीडियो गेम खेले हैं, जो आपको 3D दुनिया का अहसाश दिलाता हो?

यदि हाँ, तो आप इस Metaverse के concept को काफी आसानी से समझ सकते हैं। क्युकी Metaverse व्यक्तिगत डिजिटल gadgets या avatars के साथ इन virtual reality प्लेटफार्मों का एक विस्तृत संस्करण ही होता है।

Table of Contents

Metaverse : एक वर्चुअल ब्रह्मांड 

कैसा होगा यदि आप अपने किसी गेम कंसोल पर बैठने और उस गेम को स्क्रीन पर देखने के बजाय, यदि आप उस गेम के अंदर एक खिलाड़ी के रूप में भाग ले सकते हैं? या क्या होगा अगर आप कोलकाता में बैठकर मुंबई में रहने वाले अपने परिवार के सदस्यों के साथ दिल्ली में स्थित किसी एक रेस्टोरेंट टेबल पर डिनर कर सकते हैं?

  • अगर आप ऐसा सोच रहे है की यह कैसे संभव है, तो हाँ, आज Metaverse एक ऐसी virtual दुनिया है, जहाँ लोग अपने डिजिटल अवतार के माध्यम से बातचीत करते हैं।
  • साथ ही उस virtual दुनिया में, लोग लगभग कुछ भी करने में सक्षम होंगे, जैसे की खरीदारी के लिए जाना, बैठकों में भाग लेना, अपने दोस्तों के साथ खेलना आदि।

इस virtual ब्रह्मांड को स्मार्टफोन, या कंप्यूटर जैसे उपकरणों से एक्सेस किया जा सकता है। हालांकि, इसका पूरा अनुभव प्राप्त करने के लिए, विशिष्ट हार्डवेयर उपकरणों जैसे की – virtual reality headsets, augmented reality glasses, gaming consoles, आदि के इस्तेमाल की सिफारिश की जाती है।

मेटावर्स क्या है? (What is metaverse in hindi)

  • आप इसे एक मंच, पर्यावरण, ecosystem, वर्चुअल दुनिया या एक virtual ब्रह्मांड भी कह सकते हैं।
  • साथ ही हम इसे futuristic virtual universe भी कहते हैं।

इसे विस्तार में कहे तो, मेटावर्स एक भविष्य की डिजिटल दुनिया है, जहां लोगों को अपने डिजिटल अवतार के माध्यम से virtually तैयार किये गए दुनिया में सब तरह के काम करने का मौका मिलता है।

मेटावर्स शब्द का मतलब क्या होता है? (Word meaning of metaverse)

  • मेटावर्स ‘मेटा’ और ‘ब्रह्मांड’ शब्दों का मेल होता है। यहाँ ‘मेटा’ का अर्थ होता है ‘परे’।
  • तो जैसा कि हम जानते हैं, मेटावर्स एक ऐसा ब्रह्मांड है, जो खुद ब्रह्मांड से परे है। यह एक virtual दायरे में मौजूद होता है, लेकिन यह बिलकुल वास्तविक जैसा ही लगता है।

मेटावर्स का विचार कहाँ से आया? (where idea of metaverse originate)

  • ‘मेटावर्स’ शब्द का पहली बार उल्लेख साल 1992 के विज्ञान कथा उपन्यास “Snow Crash” में नील स्टीफेंसन द्वारा किया गया था।
  • यह उपन्यास एक dystopian दुनिया में स्थापित है, जहां सरकारों ने निजी निगमों को सत्ता सौंप दी है और साथ ही इसमें आधुनिक दुनिया के कई वर्तमान पहलुओं जैसे की virtual reality, digital currency आदि के भी संदर्भ मौजूद हैं।
  • इसके अलावा बाकि कई फिल्मों ने भी इस अवधारणा को explore किया है,  जैसे की – ‘The Matrix’, ‘Ready Player One, ‘The Tron Legacy’ आदि।

मेटावर्स खबरों में क्यों है? (Why Metaverse is in news)

  • आज मेटावर्स इतनी ज्यादा खबरों में इसलिए बना हुआ रहता है, क्युकी अब इससे संबंधित तकनीकों में निवेश करने वाली कई कंपनियां मार्केट में आती जा रही है।
  • फेसबुक ने हाल ही में “Metaverse” बनाने की अपनी महत्वाकांक्षाओं के साथ अपनी कंपनी के पुरे ग्रुप का नाम बदलकर ‘मेटा’ कर लिया है।
  • अब माइक्रोसॉफ्ट अपने “Mesh” प्लेटफॉर्म के साथ आया है, जिसमें mixed reality की क्षमताएं मौजूद हैं।
  • इसके अलावा अमेरिकी बहुराष्ट्रीय टेक्नोलॉजी कंपनी “Nvidia” भी virtual universe के अपने संस्करणों पर काम कर रहा है।
  • साथ वीडियो गेम phenomenon Fortnite के पीछे कंपनी “एपिक” है,जो अब खेलों से परे  dance parties और virtual music concerts जैसे सामाजिक अनुभवों के तरफ आगे बढ़ गई है।

मेटावर्स इंटरनेट के वर्तमान स्वरूप से किस प्रकार अलग है? (Metaverse vs internet)

  1. इंटरनेट का वर्तमान स्वरूप द्वि-आयामी यानि की 2D है, मगर metaverse हमे 3D दुनिया का अहसाश करवाने में सक्षम है।
  1. यदि आप Facebook ब्राउज़ कर रहे हैं, तो आप अपने सामाजिक संपर्कों को 2D स्क्रीन पर 2D छवियों के रूप में देख रहे होते हैं, मगर metaverse की मदद से आप उन सभी के साथ होने का अहसाश कर पाएंगे 
  1. 2D से 3D की ओर आगे बढ़ना ही हमारा अगला कदम है।
  1. तो Metaverse इंटरनेट को 3D में रेंडर किया गया है, और इसकी मदद से इंटरनेट में एक नया जीवन लाया गारा है।

क्या मेटावर्स  इंटरनेट का भविष्य है? (Is Metaverse is the future of the internet)

  • मेटावर्स अभी तक एक वास्तविकता नहीं है, यह अभी भी अपने प्रगति के स्टेज पर मौजूद है।
  • हालाँकि, मेटावर्स इंटरनेट का अगला विकास हो सकता है।
  • लेकिन आज कई लोग अनुमान लगा रहे हैं, कि मेटावर्स ही इंटरनेट का अगला चरण होगा।

मेटावर्स की सारी जानकारी? (Everything about metaverse)

  • मेटावर्स में physical और virtual दोनों दुनिया के तत्व शामिल होंगे।
  • साथ ही मेटावर्स को decentralized किया जाएगा, बिल्कुल इंटरनेट की तरह।
  • कोई भी मेटावर्स का मालिक नहीं है, जैसे की आज कोई इंटरनेट का मालिक नहीं है। यह एक खुला मंच है।
  • ऐसी कई कंपनियां और व्यक्ति होंगे जो virtual दुनिया के भीतर अपने स्वयं के स्थान संचालित करेंगे।
  • एक मेटावर्स मिश्रित वास्तविकता का एक रूप है, यानी augmented और virtual reality का संयोजन।
  • मेटावर्स डिजिटल तत्वों को वास्तविक दुनिया में पेश करेगा।
  • मेटावर्स 3D वर्चुअल स्पेस को सपोर्ट करेगा।
  • Virtual दुनिया में 3D स्पेस आपको सामाजिक बनाने, नई चीज़े सीखने, और उन तरीकों से खेलने की अनुमति देगा जो हम कल्पना कर सकते हैं।
  • फेसबुक के अनुसार, मेटावर्स सामाजिक संबंध का अगला विकास है।
  • मेटावर्स की मदद से ऑनलाइन गेमिंग, सोशल मीडिया, क्रिप्टोकरेंसी, वर्चुअल रियलिटी और ऑगमेंटेड रियलिटी जैसे डिजिटल स्पेस को मिलाने के लिए इंटरनेट का विस्तार करने की उम्मीद है।

मेटावर्स की वर्तमान स्थिति क्या है? (present state of the Metaverse)

गेमिंग (Gaming) – अब तक, कई गेमिंग प्लेटफॉर्म ने मेटावर्स कॉन्सेप्ट का सफलतापूर्वक उपयोग किया है। उदाहरण के लिए, Fortnite के निर्माता, “एपिक गेम्स” ने हाल ही में अपने खेल में पॉप गायिका “एरियाना ग्रांडे” द्वारा एक संगीत कार्यक्रम को आयोजित करवाया था।

क्रिप्टोकुरेंसी (Cryptocurrency) – क्रिप्टोकुरेंसी एक वर्चुअल ब्रह्मांड का एक और पहलू है, जिसे सफलतापूर्वक महसूस किया गया है, और यह नए मेटावर्स वर्ल्ड ऑर्डर का हिस्सा होगा जहां आपको क्रिप्टो के बदले सभी सेवाओं की पेशकश की जाएगी।

मेटावर्स 3D स्पेस के उदाहरण (Examples of Meta-Verse 3D Space)

  • Scenario 1: दिल्ली शहर में रहने वाले अपने दोस्त से मुंबई में एक स्थानीय कॉफी शॉप में मिल सकते है, वो भी अपने डिजिटल अवतारों के माध्यम से और वास्तविक समय के वर्चुअल वातावरण में।
  • Scenario 2 : कोलकाता में रहने वाले अपने दोस्त के साथ दिल्ली के एक शॉपिंग मॉल में खरीदारी कर सकते है, जो की संभव होगा आपके डिजिटल अवतारों के माध्यम से और वास्तविक समय के वर्चुअल वातावरण में।
  • Scenario 3: चंद्रमा पर उतरना और चलना, जो पूरी तरह से एक वर्चुअल वातावरण में होगा।  आदि। 

मेटावर्स की क्षमता (The Potential of Metaverse)

भौतिक बिक्री : भौतिक वस्तुओं और सेवाओं की बिक्री को भविष्य में virtual ecosystem तंत्र से जोड़ा जाएगा।

हार्डवेयर बिक्री : फेसबुक के सीईओ “मार्क जुकरबर्ग” का मानना ​​है कि augmented reality वाले चश्मे अंततः स्मार्टफोन की तरह व्यापक होंगे। अगर अगर ऐसा हुआ, तो यह एक बहुत बड़ा बाजार होगा।

सॉफ्टवेयर बिक्री : मेटावर्स ecosystem तंत्र का समर्थन करने के लिए सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के विकास में आज एक बहुत बड़ा दायरा मार्केट में मौजूद है।

गेमिंग : फेसबुक के गेमिंग प्लेटफॉर्म Oculus VR के मेटावर्स में एक प्रवेश द्वार होने की उम्मीद है।

इमर्सिव लर्निंग : Immersive Learning एक प्रशिक्षण पद्धति है जो वास्तविक दुनिया के परिदृश्यों को अनुकरण करने और छात्रों को एक सुरक्षित और आकर्षक इमर्सिव प्रशिक्षण वातावरण में प्रशिक्षित करने के लिए वर्चुअल रियलिटी (VR) का उपयोग करती है, जिस कारण छात्रों की कुछ नया सिखने की छमता में भी काफी ज्यादा बृद्धि देखि जा सकती है।

अपूरणीय टोकन (NFTs) : यह एक unique, non-interchangeable डिजिटल संपत्ति के लिए मालिकाना दावा करने का एक टूल है, जो की ब्लॉकचेन तकनीक पर स्टोर की जाती है। और ऐसा हो सकता है की आगे चलकर इन्हें लोगो द्वारा व्यापक रूप से अपनाया जाये।

मेटावर्स में वर्तमान में क्या चुनौतियाँ मौजूद हैं? (challenges at present in metaverse)

फिलहाल, मेटावर्स के अंतिम रूप के बारे में कोई भी निश्चित धरना या मॉडल हमारे सामने मौजूद नहीं है। इस बारे में भी सवाल हैं कि आखिर इस वर्चुअल वातावरण पर किसका नियंत्रण होगा।

यह mixed reality space विभिन्न virtual realities के पूरे ecosystem का प्रतिनिधित्व करेगा, जो कि केवल एक कंपनी द्वारा नहीं बनाया जा सकता है, इसलिए ऐसे एक सिस्टम के निर्माण में दशकों लगने की संभावना है और इसके लिए हजारों कंपनियों को हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और अन्य सामग्री और संसाधनों को एक साथ इस्तेमाल में लाने की आवश्यकता है।

Metaverse को ऐसी तकनीकों और बुनियादी ढांचे की आवश्यकता होती है जो वर्तमान में मौजूद नहीं हैं। साथ ही इंटरनेट का वर्तमान स्वरूप और इसकी बैंडविड्थ 3D डिजिटल स्पेस और उनके डिजाईन धारण करने के लिए अनुकूल नही है।

इस 3D स्पेस को पारंपरिक इंटरनेट की तुलना में मानकों और प्रोटोकॉल के व्यापक और अधिक जटिल सेट की आवश्यकता होगी। इसका मतलब है कि अमेज़ॅन, गूगल और फेसबुक जैसी बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियों को अपने सिस्टम को इसके हिसाब से एकीकृत करने के लिए तैयार करने की आवश्यकता होगी।

इसके अलावा इस वर्चुअल वातावरण उद्योग में डेटा सुरक्षा के सवाल भी उठा सकता है, क्योंकि इसमें डेटा सुरक्षा पर व्यापक सहमति और दृढ़ता स्थापित करना काफी कठिन होगा।

साथ ही इस वर्चुअल ब्रह्मांड को सेंसरशिप, संचार पर नियंत्रण, नियामक प्रवर्तन, ऑनलाइन कट्टरता की रोकथाम, और कई अन्य चुनौतियों के लिए पूरी तरह से नए नियमों की आवश्यकता होगी जो आज भी पूरी तरह से अनसुलझी हैं।

मेटावर्स की आलोचना (Criticisms of metaverse)

  • कई लोग metaverse की मौजूदा तकनीक पर आधारित अति-प्रचारित अवधारणा के रूप में आलोचना करते हैं। ऐसे आलोचकों का तर्क यह है कि AR और VR जैसी टेक्नोलॉजी काफी समय से मौजूद हैं। यहां तक कि ‘मेटावर्स’ शब्द भी नया नहीं है।
  • विशेषज्ञ बताते हैं कि VR डेटा बायोमेट्रिक होता है। ऐसे मामले में, लोगों की सभी व्यक्तिगत और व्यवहारिक विशेषताओं को दर्ज किया जाएगा, जिससे वे साइबर-अपराधों के प्रति संवेदनशील हो जाएंगे, जिस कारण उनके साथ साइबर घटनाए होने की संभावना भी काफी ज्यादा बढ़ सकती है।
  • इनके अलावा virtual reality के विकास के लिए उपयोगकर्ता की लत एक चिंता का विषय है।
  • साथ ही मेटावर्स उपयोगकर्ताओं को अपने साथ जोड़े रखने के लिए पक्षपाती सामग्री के साथ वास्तविकता के बारे में भी उनकी धारणाओं को विकृत कर सकता है।

FAQ (Frequently Asked Questions)

क्या फेसबुक का नाम बदला जा चुका है?

नहीं, अब तक इसका नाम नहीं बदला गया है। मगर फेसबुक से जुडी सारी कंपनियों को आब “मेटा” के नाम से जाना जायेगा।

क्या मेटावर्स 3D टेक्नोलॉजी की तरह ही काम करता है?

हां, मेटावर्स एक तरह की उन्नत 3Dटेक्नोलॉजी ही है।

क्या मेटावर्स में हम अपना खुद का वर्चुअल डिजिटल अवतार बना पाएंगे?

हां, मेटावर्स में हम खुद का एक वर्चुअल डिजिटल अवतार बना सकते हैं, जिससे हम दूसरों के अवतार से कनेक्ट कर पाएंगे।

क्या मेटावर्स के माध्यम से हम एक दूसरे से मिल सकेंगे?

हां, मेटावर्स के माध्यम से हम दूर होकर भी अपने मित्रो और परिवार के साथ अपने वर्चुअल अवतार की मदद से मिल सकेंगे।

क्या मेटावर्स के माध्यम से हम बिजनेस से जुड़े काम कर पाएंगे?

हां, इसकी मदद से हम अपने सारे बिज़नस से जुड़े हुए काम आसानी से कर पाएंगे। 

आशा करता हूं कि आज आपलोंगों को कुछ नया सीखने को ज़रूर मिला होगा। अगर आज आपने कुछ नया सीखा तो हमारे बाकी के आर्टिकल्स को भी ज़रूर पढ़ें ताकि आपको ऱोज कुछ न कुछ नया सीखने को मिले, और इस articleको अपने दोस्तों और जान पहचान वालो के साथ ज़रूर share करे जिन्हें इसकी जरूरत हो। धन्यवाद।  

Also read –

Virtual reality (VR) आखिर क्या होता है?

Animation क्या होता, इसे कैसे बनाया जाता है?


पोस्ट को share करें-

Similar Posts

2 Comments

  1. बहुत बढ़िया लिखा है! यह आपका ब्लॉग मुझे बहुत पसंद आया है। आपने विषय को गहराई से समझाया है। मैंने इसे पूरी तरह से आनंद लिया है और आपके विचारों को पढ़कर मुझे नई प्रेरणा मिली है। मैं आपके इस उत्कृष्ट कार्य की प्रशंसा करता हूँ और आगे और भी अच्छी रचनाएँ लिखने की कामना करता हूँ। धन्यवाद!

  2. Your content is always a delight! Your insights are treasured. For SEO guidance, James Jernigan’s YouTube channel is my first choice. His tips have worked wonders for my website’s search engine ranking.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *